Prime Minister Narendra Modi संभल में: गर्भगृह परिक्रमा, शिलास्थापना, और लोकार्पण… आचार्य प्रमोद के न्यौते पर PM मोदी का संभल दौरा आज, ऐसा है पूरा प्रोग्राम

Photo of author

By smachaar.com

Prime Minister Narendra Modi संभल में: गर्भगृह परिक्रमा, शिलास्थापना, और लोकार्पण…आचार्य प्रमोद के न्यौते पर PM मोदी का संभल दौरा आज, ऐसा है पूरा प्रोग्राम

Prime Minister Narendra Modi का हाल का भ्रमण संभल, उत्तर प्रदेश, ने कल्कि धाम मंदिर में शिलान्यास समारोह के साथ क्षेत्र की आध्यात्मिक दृश्य में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया। इस घटना ने बहुत ध्यान आकर्षित किया, इसके साथ ही इसकी सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व को भी उजागर किया।

Prime Minister Narendra Modi संभल में: गर्भगृह परिक्रमा, शिलास्थापना, और लोकार्पण...आचार्य प्रमोद के न्यौते पर PM मोदी का संभल दौरा आज, ऐसा है पूरा प्रोग्राम

©Provided by samachaar.com

 

प्रधानमंत्री मोदी की आगमन और कार्यक्रम की अनुसूची:

ऐसा होगा कार्यक्रम

  • आचार्य प्रमोद कृष्णम के मुताबिक, ऐंचोड़ा कंबोह स्थित श्री कल्कि धाम में सुबह 7:30 बजे से गर्भगृह में पूजन शुरू.
  • सुबह 10:25 बजे कल्कि धाम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हेलीकॉप्टर उतरेगा.
  • हेलीपैड पर ही 4 मिनट तक पीएम मोदी का स्वागत यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जनपद के उच्चाधिकारी व कल्कि पीठ के कुछ संत करेंगे.
  • सुबह 10:29 पर प्रधानमंत्री कल्कि धाम मंदिर के गर्भ गृह में प्रवेश करेंगे.
  • एक मिनट तक पैदल चलकर पीएम मोदी गर्भ गृह में पूर्व के द्वार से प्रवेश करते हुए दक्षिण दिशा तक जाकर गर्भ गृह की परिक्रमा करेंगे.
  • सुबह 10:31 से 10:37 तक प्रधानमंत्री गर्भ गृह में मुख्य शिला को स्थापित करेंगे.
  • उज्जैन के बाबा महाकाल मंदिर से जुड़े महात्मा वैदिक मंत्र के बीच पूजन का कार्यक्रम संपन्न करेंगे.
  • सुबह 10:39 पर प्रधानमंत्री परिक्रमा करते हुए पूर्व के द्वार से बाहर निकलेंगे. इसके बाद कल्कि धाम के भव्य मंदिर के मॉडल का लोकार्पण करेंगे.
  • सुबह 10:41 पर पीएम मोदी मंच की ओर जाएंगे. वह 10:45 पर मंचासीन हो जाएंगे. अगले 5 मिनट तक उनका स्वागत कल्कि धाम के संत करेंगे.
  • सुबह 10:50 से 11 बजे तक प्रधानमंत्री के बोलने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व कल्कि पीठाधीश्वर प्रमोद कृष्णम का स्वागत भाषण होगा.
  • सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों को संबोधित करना शुरू करेंगे.

प्रतीकात्मक इशारा:

  • Prime Minister Narendra Modi , उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अन्य महत्वपूर्ण व्यक्तियों के साथ गर्भगृह की ओर पैदल बढ़े, जो विनम्रता और श्रद्धा का प्रतीक था।

शिलान्यास और मंदिर का उद्घाटन:

ऐतिहासिक क्षण:

  • 10:29 बजे, Prime Minister Narendra Modi ने कल्कि धाम मंदिर में शिलान्यास किया, जो मंदिर के निर्माण में एक महत्वपूर्ण कदम है।
  • इसके बाद, वे विशाल मंदिर के मॉडल का अनावरण किया, जो उसके वास्तुकला की शानदारता और आध्यात्मिक महत्व को प्रकट करता है।

वास्तुकला की शानदारता:

  • मंदिर का अलगाववादी गुलाबी पत्थर निर्माण भारत की धारणात्मक विरासत को याद दिलाता है।
  • इसका डिज़ाइन, जिसमें स्टील या लोहा का प्रयोग नहीं हुआ, पारंपरिक कारीगरी और सांस्कृतिक प्रामाणिकता को हाइलाइट करता है।

कल्कि धाम मंदिर का महत्व:

आध्यात्मिक केंद्र:

  • कल्कि धाम विष्णु भगवान के कल्कि रूप में अवतरण के लिए प्रतीकात्मक है।
  • भगवान विष्णु के दस अवतारों के दस गर्भगृहों के साथ, मंदिर हिंदू पौराणिकता की महत्वपूर्ण बातें साझा करता है।

सांस्कृतिक विरासत:

  • मंदिर का निर्माण पारंपरिक कारीगरी को बढ़ावा देता है, जो इसकी दीर्घायु और सांस्कृतिक महत्वकोश को सुनिश्चित करता है।

निष्कर्ष:

Prime Minister Narendra Modi की संभल यात्रा और कल्कि धाम मंदिर में शिलान्यास समारोह भारतीय सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत में एक महत्वपूर्ण क्षण की घोषणा करता है। इस घटना का महत्व न केवल मंदिर निर्माण में प्रगति को दर्शाता है, बल्कि देश की समृद्ध विरासत को संरक्षित और प्रोत्साहित करने की महत्वाकांक्षा को भी उजागर करता है। कल्कि धाम मंदिर के निर्माण के साथ, यह आगामी पीढ़ियों के लिए श्रद्धा, एकता और भक्ति का प्रतीक बन गया है, जो हर वर्ग के भक्तों के साथ संवाद करता है।

पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs):

  1. कल्कि धाम मंदिर में प्रधानमंत्री मोदी का भ्रमण क्या महत्वपूर्ण है?
    • Prime Minister Narendra Modi का भ्रमण मंदिर के निर्माण की महत्वपूर्ण घटना को उजागर करता है और धार्मिक विरासत की महत्वाकांक्षा को बढ़ावा देता है।
  2. कल्कि धाम मंदिर क्यों महत्वपूर्ण है?
    • कल्कि धाम मंदिर एक अद्वितीय स्थान है जहां भगवान विष्णु के कल्कि रूप के अवतार का निर्माण हो रहा है।
  3. कल्कि धाम मंदिर के निर्माण में क्या विशेष है?
    • मंदिर का निर्माण पारंपरिक कारीगरी पर ध्यान देता है, जो उसकी संस्कृति और विरासत को सुरक्षित रखने में मदद करता है।
  4. कल्कि धाम मंदिर किसे समर्पित है?
    • कल्कि धाम मंदिर भगवान विष्णु के कल्कि रूप के अवतार को समर्पित है।
  5. कल्कि धाम मंदिर का क्या अंतिम उद्देश्य है?
    • कल्कि धाम मंदिर धार्मिकता, एकता, और भक्ति को बढ़ावा देने का उद्देश्य रखता है और सांस्कृतिक एवं धार्मिक विरासत को संरक्षित करता है।

हिंदी में राजनीति ,प्रधानमंत्री ,देश ,विदेश  और अन्य देश से जुड़ी खबरें सबसे पहले समाचार.कॉम पर पढ़ें.

अगर आपको हमारी स्टोरी से जुड़े सवाल हैं, तो आप हमें आर्टिकल के नीचे दिये गए कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। हम आप तक सही जानकारी पहुंचाने का प्रयास करते रहेंगे। अगर आपको स्टोरी अच्छी लगी है, तो इसे अपने सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना न भूलें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए हर जिंदगी से जुड़े रहें।

Leave a comment

Discover more from smachaar.com

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading